ads

ईसीबी पर नस्लवाद के आरोप लगाते हुए पूर्व अंपायर जॉन होल्डर ने कहा-हमें चुप कराना चाहते हैं...

इंग्लैंंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड में इन दिनों नस्लवाद का मामला गर्माया हुआ है। अब इंग्लैंड के पूर्व अंपायर ने ईसीबी की अलोचना की है। पूर्व अंपायर जॉन होल्डर ने बोर्ड के उस बयान की आलोचना की है, जिसमें इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने कहा था कि जॉन होल्डर और उनके साथी अंपायर इंस्माइल दाऊद ने बोर्ड पर लगाए संस्थागत नस्लवाद के आरोपों को वापस ले लिया है। होल्डर का कहन है कि उन्होंने अपने किसी भी दावे को वापस नहीं लिया है। साथ ही उन्होंने बोर्ड पर आरोप लगाए कि बोर्ड उन्हें चुप करना चाहता है।

कानूनी तकनीकी आधार पर खारिज किया मामला
पूर्व अंपायर जॉन होल्डर ने क्रिकइंफो से बातचीत करते हुए बताया कि ईसीबी ने उनके मामले को कानूनी तकनीकी आधार पर खारिज किया। साथ ही उन्होंने बोर्ड के उस बयान को भी गलत बताया कि होल्डर उनके साथी इस्माइल ने नस्लवाद के आरोपों को वापस ले लिया है। होल्डर का कहना है कि उनके द्वारा किसी भी दावे को वापस नहीं लिया गया है। उन्होंने कहा,'ईसीबी के बयान के लहजे से असंबद्ध पाठक को यह आभास होगा कि हमने घटनाओं के उनके संस्करण को स्वीकार कर लिया है और पीछे हट गए हैं। यह बिल्कुल ऐसा नहीं है। हम आश्वस्त हैं कि ईसीबी संस्थागत रूप से नस्लवादी है।’

यह भी पढ़ें— पाकिस्तान टीम में आजम खान के सलेक्शन पर फैंस नाराज, कहा- पिता की वजह से हुआ

ecb.png

चुप कराना चाहते हैं
साथ ही जॉन होल्डर ने कहा कि बयान पढ़ने के बाद वे जानते थे कि वह उन लोगों के साथ काम नहीं कर सकते। साथ ही उन्होंने कहा कि यहां कुछ भी विश्वास करने लायक नहीं है। होल्डर का आरोप है कि उन्हें चुप करना चाहते हैं और उनके अनुभवों से सीखना नहीं चाहते। साथ ही होल्डर ने कहा कि वे मुझे यह आभास कराना चाहते हैं कि चीजें सुलझ गई हैं, लेकिन यह भ्रामक और कपटपूर्ण है।’ जॉन होल्डर और इस्माइल दाउद ने अपने कार्यकाल के दौरान ईसीबी पर संस्थागत नस्लवाद में लिप्त होने के आरोप लगाए थे। साथ ही ईसीबी के खिलाफ पिछले साल मुकदमा भी दायर किया था।

यह भी पढ़ें— रिटायरमेंट के बाद भी करोड़ों रुपए कमाते हैं सचिन, जानिए कुल संपत्ति और कमाई के रास्ते

ईसीबी ने दिया था यह बयान
इससे पहले मामले पर ईसीबी ने बीबीसी से बातचीत में कहा था कि ईसीबी को सूचित किया गया है कि जॉन होल्डर और इस्माइल दाऊद ने अपने दावों को वापस ले लिया है। ईसीबी ने कहा कि था कि दोनों ने मुआवजे या लागत के भुगतान के बिना ईसीबी के खिलाफ अपने रोजगार के दावों को वापस ले लिया है। ईसीबी एक ऐसी कार्य प्रणाली के लिए प्रतिबद्ध है, जिसमें सभी के लिए समान अवसर हैं। इसमें नस्लवाद के लिए कोई स्थान नहीं है।



Source ईसीबी पर नस्लवाद के आरोप लगाते हुए पूर्व अंपायर जॉन होल्डर ने कहा-हमें चुप कराना चाहते हैं...
https://ift.tt/3fUopFq

Post a Comment

0 Comments