ads

हनुमानजी पूजा करते समय ना करें ये गलतियां, क्रोधित हो करेंगे दण्डित

हिंदू धर्म में सबसे ज्यादा पूजे जाने वाले देवी-देवताओं में से हनुमानजी एक हैं। मगंलवार और शनिवार का दिन भगवान हनुमान को समर्पित है। इस दिन बजरंगबली की पूजा सच्चे मन से की जानी चाहिए। हनुमानजी की पूजा बहुत ही आसान मानी जाती है और यह बहुत ही जल्द प्रसन्न होने वाले देवता हैं। हिंदू धर्म के अनुसार, बंजरंगबली की पूजा करने से सभी तरह के कष्टों और भय से मुक्ति मिलती है। कई बार हनुमानजी की पूजा करते समय जाने-अनजाने कुछ ऐसी बड़ी गलतियां कर देते हैं, जिनसे बजरंगबली प्रसन्न होने की जगह नाराज हो जाते हैं।


हनुमान जी की पूजा करते समय इन सावधानियों का ध्यान अवश्य रखे....

— हिंदू धर्म के अनुसार हनुमानजी की पूजा काले या सफेद रंग के कपड़े पहनाकर बिल्कुल ना करें। ऐसा करने पर आपकी पूजा पर नकरात्मक प्रभाव पड़ता है। पूजा करने के लिए हमेशा लाल और पीले रंग के कपड़ों का ही प्रयोग करें।

 

यह भी पढ़े :— भूल से भी ना चढ़ाएं शिवजी को ये 5 चीजें, वरदान की जगह मिलेगा श्राप

— राम भक्त हनुमानजी ने आजीवन ब्रह्मचर्य का पालन किया। जीवन में श्री हनुमत महाप्रभु का आशीर्वाद प्राप्त करना चाहते हैं उन्हें ब्रह्मचर्य का पालन अवश्य करना चाहिए। विवाहित भी जो हनुमान जी की पूजा करते हैं उन्हें पूजा वाले दिन ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।

— अगर कोई व्यक्ति मांसाहार करता है उन्हें भूलकर भी हनुमान जी की पूजा नहीं करना चाहिए। ऐसे व्यक्ति पर श्री हनुमान क्रोधित हो उन्हें दण्डित करते है, हनुमान जी के उपासक को शाकाहारी जीवन ही जीना चाहिए।

— स्त्रियों को हनुमानजी को सीधे वस्त्र व चोला अर्पित नहीं करना चाहिए। वह अपने पुत्र या पति के माध्यम से यह कार्य कर सकती है। वरना हनुमानजी के कोप का सामना करना पड़ सकता है। माहवारी के दिनों में स्त्रियों को किसी भी मंदिर में पूजा नहीं करनी चाहिए।

— बहुत सारे हनुमान भक्त मंगलवार के दिन व्रत रखते हैं ऐसे में इन भक्तों को भूलकर भी व्रत के दिन नमक का सेवन नहीं करना चाहिए।

— ऐसा कहा जता है कि बजरंगबली काफी शांतप्रिय देवता माने जाते हैं, इसलिए उनकी साधना बड़े ही शांत मन से करनी चाहिए। यदि आपका मन अशांत है या फिर आपको किसी बात पर क्रोध आ रहा है, तो ऐसे में हनुमान जी की पूजा ना करें।



Source हनुमानजी पूजा करते समय ना करें ये गलतियां, क्रोधित हो करेंगे दण्डित
https://ift.tt/3e0BRaq

Post a comment

0 Comments