ads

ये है शनिदेव के 9 वाहन, जानिए इनके दर्शन का महत्व और फल

ज्योतिष शास्त्र में शनिदेव को सभी ग्रहों में न्याय का देवता बताया गया है। शनिवार का दिन भगवान शनिदेव को समर्पित है। न्याय और दंड के देवता शनि को प्रसन्न करने के लिए भक्त हर तरह के उपाय करते हैं। शनिवार के दिन उनकी पूजा करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है। शास्त्रों में शनिदेव के 9 वाहन बताए गए हैं। जिनपर आकर वे सपनों में अपने दर्शन देते है, तो हर वाहन का अपना विशेष महत्व और फल होता हैं। आइए जानते हैं शनिदेव के अलग-अलग वाहनों पर आने का क्या फल बताए गए हैं।


1. हंस वाहन
शनि की का वाहन हंस हो तो बहुत शुभ होता है। इससे व्यक्ति के मान-सम्मान और यश में वृद्धि होती है और घर-परिवार में सुख-शांति के साथ संपन्नता भी आती है। यक्ति को कभी किसी चीज की कमी नहीं होती और जीवन में ढेर सारी खुशियां आती हैं। हंस पर बैठकर शनिदेव का गोचर करने पर सबसे शुभ माना जाता है।

2. मोर वाहर
गोचर के दौरान शनिदेव मोर पर बैठते हैं तब व्यक्ति का भाग्य खुल जाता है। उसकी मेहनत का फल उसको कर्मों के हिसाब से अच्छा मिलता है। इस समय समझदारी के साथ कार्य करता है और बड़ी से बड़ी समस्या को भी आसानी से खत्म कर देता है।

3. कौआ वाहन
शनि का वाहन कौआ हो तो इस अवधि में कलह में बढ़ोतरी होती है। परिवार के सदस्यों के बीच आपसी प्रेम धीरे-धीरे खत्म होने लगता है। इसलिए ऐसे समय में व्यक्ति को शांत मन से और समझदारी के साथ मसलों को सुलझाना चाहिए। इस समय व्यक्ति को हर रोज नई चुनौतियों से जुझना पड़ता है।


4. सियार वाहन
यदि शनि का वाहन सियार हो तो शुभ फल नहीं मिलता है। इस दौरान शुभ फलों की प्राप्ति बहुत कम होती है और धन संबंधित समस्याओं का ज्यादा सामना करना पड़ता है। मान्यता है कि सियार पर बैठे शनिदेव दुख और तकलीफ लेकर आते हैं।


5. भैंसा वाहन
यदि शनिदेव का वाहन भैंसा हो तो मिला-जुला फल प्राप्त होता है। इस दौरान स्थितियां सामान्य रहती हैं। व्यक्ति को किसी चीज की प्राप्ति के लिए कड़ी मेहनत तो करनी पड़ती है लेकिन अंत उसे वह चीज मिल जाती है। शनिदेव की यह स्थिति खुशी और दुखी दोनों लेकर आती है। इस स्थिति में समझदारी और होशियारी से काम करना ज्यादा बेहतर होता है।


6. हाथी वाहन
शनिदेव का हाथी पर आना शुभ माना गया है। सपने में भी अगर हाथी पर बैठकर शनिदेव दर्शन दे रहे हैं तो इसका संकेत है कि काफी मात्रा में धन वैभव की प्राप्ति होने वाली है और आपके अटके हुए कार्य भी धीरे-धीरे बनने लगते हैं। साथ ही आपको उत्तम भोजन का सुख प्राप्त होगा और घर में सुख-शांति बनी रहेगी।

7. शेर वाहन
शनिदेव गोचर करते समय जब सिंह यानी शेर की सवारी करते हैं तो या फिर सपने में ऐसे दर्शन दे रहे हों तब यह शुभ माना जाता है। शेर पर सवाह शनिदेव व्यक्ति के जीवन में कृपा बरसाते हैं। शेर की तरह व्यक्ति के जीवन में साहस आ जाता है। इस समय व्यक्ति को अपने शत्रुओं से डरने की आवश्यकता नहीं पड़ती और निडर होकर अपनी लाइफ को आगे बढ़ाना चाहिए।

8. घोड़ा वाहन
ऐसा कहा जाता है कि शनिदेव का वाहन घोड़ा हो तो शुभ फल मिलते हैं। इस समय समझदारी से काम लें तो अपने शत्रुओं पर आसानी से विजय पा सकते हैं। घोड़े को शक्ति का प्रतिक माना जाता है, इसलिय व्यक्ति इस समय जोश और उर्जा से भरा होता है।

9. ***** वाहन
शनिदेव जब गधे पर सवार होकर गोचर कर रहे हों या फिर सपने में इस वाहर पर दर्शन दे रहे हों यह अशुभ माना जाता है। शुभ फलों को मिलने में कमी होती है। उसके जीवन में कई परेशानियां आती हैं और छोटे-छोटे कार्यों के लिए भी अधिक संघर्ष करना पड़ता है।



Source ये है शनिदेव के 9 वाहन, जानिए इनके दर्शन का महत्व और फल
https://ift.tt/3uzA0it

Post a comment

0 Comments