ads

मूंगफली की एलर्जी बच्चों में अधिक, गंभीर होने पर लो-बीपी व बेहोशी भी

मूंगफली सेहत के लिए फायदेमंद होती है। सर्दियों में इसका उपयोग भी अधिक होता है। लेकिन कुछ लोगों को मूंगफली से एलर्जी होती है। इसे पीनट एलर्जी कहते हैं। छोटे बच्चों में एंटीबॉडीज की कमी होती है। इसलिए उनमें यह समस्या अधिक होती है।
क्या है पीनट एलर्जी
मूंगफली, इससे बने उत्पाद बिस्किट-नमकीन, चक्की या तेल खाने से भी एलर्जी हो जाती है। कुछ लोगों में यह परेशानी जेनेटिक कारणों से भी हो सकती है।
सांस लेने में दिक्कत, चक्कर आना, बेहोशी, लो बीपी होना, धडक़न बढऩा, गले में कसावट, त्वचा पर लालिमा, गले में खुजली आदि।
ऐसे करें बचाव
मूंगफली व इसके तेल के इस्तेमाल से बने हर तरह के उत्पाद न खाएं। इलाज के बाद थोड़ी-थोड़ी मात्रा में लें। इसकी पहचान के लिए तीन जांचें होती हैं। डॉक्टर की सलाह से करवा सकते हैं।
एलर्जी होने पर क्या?
मूंगफली खाने के तुरंत बाद इसके लक्षण दिखते हैं। इसमें तत्काल एंटीएलर्जिक दवा लें। लक्षण गंभीर होने पर कुछ लाइफ सेविंग दवाइयां आती हैं, उन्हें डॉक्टर की सलाह से लें।



Source मूंगफली की एलर्जी बच्चों में अधिक, गंभीर होने पर लो-बीपी व बेहोशी भी
https://ift.tt/3pfFY56

Post a comment

0 Comments