ads

36 साल से इंग्लैंड एमए चिदंबरम स्टेडियम में टेस्ट नहीं जीत सका

चेन्नई। इंग्लैंड की टीम ने हाल ही में श्रीलंकाई टीम का उसी के घर में दो टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-0 से सफाया किया है। इस शानदार जीत के बाद टीम अब भारत आई है जहां उसे 5 फरवरी से चार टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है। लेकिन भारतीय सरजमीं पर इंग्लैंड की राह आसान नहीं होगी क्योंकि चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में उसे 36 साल से जीत नसीब नहीं हुई है।

मुश्किल राह : इंग्लैंड के लिए यह सीरीज जीतना इसलिए भी अहम है क्योंकि यदि उसे हार का सामना करना पड़ा तो वह टेस्ट चैंपियनशिप में फाइनल की होड़ से भी बाहर हो जाएगी। इसके अलावा, भारतीय टीम हाल ही में ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में शिकस्त देकर लौटी है। इस कारण उसके हौसले काफी बुलंद हैं। ऐसे में इंग्लैड के लिए यह सीरीज कड़ी परीक्षा जैसी है।

107 साल में पहली बार -
विदेश में जीते लगातार 5 टेस्ट
इंग्लैंड ने 107 साल बाद पहली बार विदेशी धरती पर लगातार पांच टेस्ट मैच जीते हैं। इंग्लैंड ने सोमवार को श्रीलंका को छह विकेट से हरा दो टेस्ट की सीरीज 2-0 से जीती। इससे पहले उसने 2020 की शुरू आत में द.अफ्रीका को उसी के घर में तीन टेस्ट में शिकस्त दी थी।

आखिरी बार गॉवर ने दिलाई थी जीत-
चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में इंग्लैंड ने आखिरी बार डेविड गॉवर की कमान में भारत को 1985 में नौ विकेट से हराया था। इंग्लैंड की ओर से पहली पारी में ओपनर ग्रीम फ्लावर और माइक गैटिंग ने शानदार दोहरा शतक जड़ा था।

भारत में 10 महीने बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी-
मार्च 2020 में कोरोना के कारण बंद हुए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की एकबार फिर भारतीय सरजमीं पर वापसी हो रही है। इसकी शुरुआत चेन्नई में 5 फरवरी से इंग्लैंड के खिलाफ शुरू होने वाली टेस्ट सीरीज से होगी। लेकिन इस बार क्रिकेट अलग रंग में रंगा नजर आएगा और खिलाडिय़ों को सख्त बायो बबल में रहना होगा...

कोच सिल्वरवुड बोले, भारत को मात देना संभव -
भारतीय टीम को हराना नामुमकिन नहीं है लेकिन इसके लिए हमें उम्मीदों पर खरा उतरना होगा और खिलाडिय़ों को अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। मेरा मानना है कि भारत के खिलाफ टेस्ट मुकाबले बेहद करीबी और रोमांचक होंगे। हमारी तैयारी काफी अच्छी है और हाल ही में श्रीलंका से सीरीज जीतने पर टीम के हौसले बुलंद हैं।

चुनौती आसान नहीं: कोच सिल्वरवुड ने हालांकि माना कि उनकी टीम के लिए चुनौती आसान नहीं होगी। सिल्वरवुड ने कहा, ऑस्ट्रेलिया में भारतीय टीम ने जिस तरह का जबरदस्त प्रदर्शन किया, उससे साफ है कि उन्हें हराना बेहद कठिन है। खासतौर पर जब टीम इंडिया अपने घर में खेल रही है।

कप्तान कोहली भी टीम से जुड़े-
भारतीय कप्तान विराट कोहली बुधवार को चेन्नई पहुंचे और टीम के साथ जुड़ गए। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर कोहली पहला टेस्ट मुकाबला खेलने के बाद पैटरनिटी लीव पर स्वदेश लौट गए थे। इससे पहले, मंगलवार को रोहित शर्मा और टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे समेत कई भारतीय खिलाड़ी चेन्नई पहुंचे। इंग्लैंड टीम के सभी सभी खिलाड़ी यहां पहुंच चुके हैं।
छह दिन क्वारंटीन में बिताने होंगे- तमिलनाडु क्रिकेट संघ के एक अधिकारी ने बताया कि भारत और इंग्लैंड की टीमें यहां के लीला पैलेस होटल में रहेंगी। इस दौरान दोनों टीमों को छह दिन के लिए क्वारंटीन रहना होगा।

परिवार साथ रहेगा-
बीसीसीआई ने खिलाडिय़ों के परिवार को उनके साथ रहने की अनुमति दे दी है। लेकिन सभी को छह दिन के लिए क्वारंटीन रहना होगा और किसी को भी कमरे से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। सीरीज के दौरान खिलाडिय़ों और उनके परिवार के किसी सदस्य को बायो बबल से बाहर जाने की अनुमति नहीं होगी।
अभ्यास करने को तीन दिन मिलेंगे-
सीरीज से पहले मेजबान भारतीय टीम और इंग्लैंड के खिलाडिय़ों को अभ्यास करने के लिए सिर्फ तीन दिन का समय मिलेगा। वहीं, क्वारंटीन पीरियड पूरा होने और कोविड जांच की प्रक्रिया पूरी होने के बाद खिलाडिय़ों को स्विमिंग पूल का इस्तेमाल करने की अनुमति दी जाएगी। यह सीरीज दर्शकों के बगैर खेली जाएगी।



Source 36 साल से इंग्लैंड एमए चिदंबरम स्टेडियम में टेस्ट नहीं जीत सका
https://ift.tt/3qTPHhG

Post a comment

0 Comments